ख़बर जहां, नज़र वहां

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद भी सपा प्रमुख अखिलेश यादव दिख रहे है एक्टिव

आपको बता दें कि अखिलेश यादव पहली बार मैनपुरी की करहल विधानसभा सीट से चुनाव लड़कर विधायक बने इसके साथ ही नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी पर भी उन्होंने किसी दूसरे नेता को बैठाने के बजाय खुद बैठना पसंद किया है. अखिलेश लगातार सक्रिय रहकर अपनी प्रासंगिकता को बनाए रखने में जुटे हैं, जिसमें पार्टी नेताओं के साथ मिलने जुलने से लेकर अलग-अलग जिलों में भी दौरे कर रहे हैं.
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद भी सपा प्रमुख अखिलेश यादव दिख रहे है एक्टिव

लखनऊः सपा प्रमुख अखिलेश यादव 2017 में जब यूपी की सत्ता से बाहर हुए तो सड़क से कटते नजर आए थे.जहां सियासी गठबंधन के विफल प्रयोगों के बीच जनता के मुद्दों पर सड़क पर उनकी मौजूदगी महज प्रतीकात्मक रही.और ऐसे में विपक्ष के चेहरे के तौर पर अखिलेश पांच सालों तक सबसे बड़ा आरोप 'निष्क्रियता' का झेलते रहे.वहीं, अब सत्ता में वापसी की टूटी उम्मीदों के बाद भी अखिलेश यादव बदले-बदले नजर आ रहे हैं.और सपा की प्रासंगिकता बनाए रखने के लिए उत्तर प्रदेश में सक्रिय नजर आ रहे हैं.

बता दें अखिलेश यादव 2022 के चुनाव में भले ही सूबे की सत्ता में सपा की वापसी न कर पाए हों. लेकिन पिछली बार से बेहतर प्रदर्शन जरूर किया है.और ऐसे में अखिलेश ने लोकसभा सदस्यता से इस्तीफा देकर विधायकी अपने पास रखकर संकेत पहले ही दे दिया था.कि सूबे में सक्रिय रहकर सियासी जमीन को मजबूत करेंगे.और साथ ही योगी सरकार के खिलाफ सीधे मुखातिब होंगे.इस तरह अखिलेश इन दिनों सूबे में सक्रिय होकर कार्यकर्ताओं के हौसले मजबूत और जनता में अपनी पैठ बनाने में जुट गए हैं.

आपको बता दें कि अखिलेश यादव पहली बार मैनपुरी की करहल विधानसभा सीट से चुनाव लड़कर विधायक बने इसके साथ ही नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी पर भी उन्होंने किसी दूसरे नेता को बैठाने के बजाय खुद बैठना पसंद किया है. अखिलेश लगातार सक्रिय रहकर अपनी प्रासंगिकता को बनाए रखने में जुटे हैं, जिसमें पार्टी नेताओं के साथ मिलने जुलने से लेकर अलग-अलग जिलों में भी दौरे कर रहे हैं.

Leave Your Comment
Most Viewed
Related News