ख़बर जहां, नज़र वहां

अमेरिका में डाग सूंघकर पता कर रहे कोरोना पॉजिटिव, विशेष गंध से कर रहे पहचान

जानकारी के अनुसार अमेरिका में खोजी कुत्तों का इस्तेमाल कैंसर, डायबिटीज व पार्किंनसंस जैसे रोगों की पहचान में भी किया जा रहा है. इस प्रक्रिया को 'बायो डिटेक्शन' या जैविक पड़ताल कहा जाता है.
अमेरिका में डाग सूंघकर पता कर रहे कोरोना पॉजिटिव, विशेष गंध से कर रहे पहचान

नई दिल्लीः श्वानों को ईश्वर ने सूंघने की अद्भुत शक्ति दी है. इसके दम पर वे इंसानों को खतरे से बचाने के लिए अपनी जान झोंक देते हैं. हम यहां अमेरिका के ऐसे खोजी श्वानों का जिक्र कर रहे हैं जो वैश्विक महामारी कोरोना से संक्रमित किसी व्यक्ति की पहचान सूंघ कर कर लेते हैं.

वहीं, अब तक आपने खोजी श्वानों का उपयोग सेना व पुलिस द्वारा बमों, संदिग्ध वस्तुओं व व्यक्तियों, पहाड़ों पर बर्फ में दबे लोगों को ढूंढ निकालने आदि महत्वपूर्ण कामों को अंजाम देते सुना व देखा होगा. लेकिन अमेरिका में विशेष रूप से प्रशिक्षित श्वान अब कोविड पॉजिटिव रोगियों की पहचान भी करने लगे हैं. यदि इन्होंने आप में कोरोना वायरस की पुष्टि कर दी तो आपको आरटीपीसीआर टेस्ट कराने की जरूरत नहीं है. ये सूंघने की दिव्य शक्ति के दम पर कोविड-19 की पुष्टि कर रहे हैं.

जानकारी के अनुसार अमेरिका में खोजी कुत्तों का इस्तेमाल कैंसर, डायबिटीज व पार्किंनसंस जैसे रोगों की पहचान में भी किया जा रहा है. इस प्रक्रिया को 'बायो डिटेक्शन' या जैविक पड़ताल कहा जाता है.

Leave Your Comment
Most Viewed
Related News