ख़बर जहां, नज़र वहां

यूपी में कोरोना का कहर जारी, सोमवार को यूपी में 210 नए केस की पुष्टि, राज्य में एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 1277 हुई

उत्तर प्रदेश में कोरोना के केस लगातार बढ़ते जा रहे हैं. सोमवार को यूपी में 210 नए केस मिले हैं. प्रदेश में सबसे ज्यादा 120 मामले गौतमबुद्ध नगर में आएं हैं. इसके अलावा गाजियाबाद में 273, लखनऊ में 12, आगरा में 8 और मेरठ में 4 मामले रिपोर्ट हुए हैं. जिसके बाद से राज्य में एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 1277 हो गई है. इस दौरान 132 लोग रिकवर भी हुए हैं.
यूपी में कोरोना का कहर जारी, सोमवार को यूपी में 210 नए केस की पुष्टि, राज्य में एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 1277 हुई

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश में कोरोना के केस लगातार बढ़ते जा रहे हैं. सोमवार को यूपी में 210 नए केस मिले हैं. प्रदेश में सबसे ज्यादा 120 मामले गौतमबुद्ध नगर में आएं हैं. इसके अलावा गाजियाबाद में 273, लखनऊ में 12, आगरा में 8 और मेरठ में 4 मामले रिपोर्ट हुए हैं. जिसके बाद से राज्य में एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 1277 हो गई है. इस दौरान 132 लोग रिकवर भी हुए हैं.

आपको बता दें कि तीसरी लहर के बाद बच्चे सबसे ज्यादा कोरोना की चपेट में आ रहे हैं .25 अप्रैल को जारी सरकारी रिपोर्ट के मुताबिक 24 घंटे में एक दिन में 94 हजार 324 सैंपल की जांच हुई. इस दौरान कोरोना के 210 नए मामले रिपोर्ट हुए. सर्वाधिक केस नोएडा, गाजियाबाद, आगरा, लखनऊ और मेरठ में मिले हैं. 17 जनवरी को दैनिक संक्रमण दर 7.11 परसेंट और 19 जनवरी को सबसे अधिक 7.78 परसेंट थी, जो अप्रैल की शुरूआत में घटकर 0.1 परसेंट पर आ गई. अब संक्रमण दर 1.88 परसेंट हो गई है. वहीं, रिकवरी रेट 98.8 परसेंट है.

प्रदेश में 31 करोड़ 10 लाख से अधिक कोविड टीकाकरण के साथ ही 18 वर्ष से अधिक आयु की पूरी आबादी को टीके की कम से कम एक डोज लग चुकी है. जबकि 87.47 प्रतिशत से अधिक वयस्क लोगों को दोनों खुराक मिल चुकी है. 15 से 17 आयु वर्ग में 94.62 प्रतिशत किशोरों को पहली खुराक मिल चुकी है और 63.77 प्रतिशत से किशोरों को दोनों डोज लग चुकी है. बच्चों के टीकाकरण को और तेज करने की आवश्यकता है. 12 से 14 आयु वर्ग के बच्चों को पहली डोज के बाद अब पात्रता के अनुसार दूसरी डोज भी दी जाए.

मुख्यमंत्री ने टीम-9 की बैठक में लखनऊ व एनसीआर के जिलों में सार्वजनिक स्थानों पर मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया है. इसमें गाजियाबाद, हापुड़, मेरठ, बुलंदशहर, बागपत शहरों में सख्ती से नियम का पालन करने के लिए कहा गया है. साथ ही टीकाकरण पर जोर देने का निर्देश है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि कोरोना महामारी के दौरान अस्पतालों में कार्य करने वाले कार्मिकों की सेवाभावना प्रेरणास्पद है. ऐसे कार्मिकों के भविष्य की सुरक्षा के विभिन्न सेवाओं में वेटेज दिया जाना चाहिए. उन्होंने इस संबंध में प्रस्ताव तैयार करने का निर्देश दिया है. मुख्यमंत्री योगी सोमवार को टीम-9 के साथ प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे.

Leave Your Comment
Most Viewed
Related News