ख़बर जहां, नज़र वहां

BJP-शिवसेना ने सरकार बनाने का दावा किया पेश, एकनाथ शिंदे होंगे मुख्यमंत्री

महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस और शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे राजभवन पहुंचे. उन्होंने महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के सामने सरकार बनाने का दावा पेश किया. जिसे राज्यपाल ने स्वीकार किया.
BJP-शिवसेना ने सरकार बनाने का दावा किया पेश,  एकनाथ शिंदे होंगे मुख्यमंत्री

नई दिल्लीः महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस और शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे राजभवन पहुंचे. उन्होंने महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के सामने सरकार बनाने का दावा पेश किया. जिसे राज्यपाल ने स्वीकार किया. राज्यपाल ने दोनों नेताओं को मिठाई खिलाई. इससे पहले एकनाथ शिंदे गोवा से मुंबई आए और देवेंद्र फडणवीस के घर पहुंचे थे. वहां आधा घंटा रुकने के बाद दोनों नेता राजभवन पहुंचे. फडणवीस और शिंदे ने सरकार बनाने का दावा पेश करने के बाद राजभवन में संयुक्त प्रेस वार्ता को संबोधित किया. पीसी में फडणवीस ने एलान किया एकनाथ शिंदे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री होंगे.

देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि 2019 के महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों में, लोगों ने भाजपा-शिवसेना गठबंधन के लिए मतदान किया, लेकिन उस जनादेश का अपमान किया गया और महा विकास आघाडी सरकार बनाई गई. उद्धव ने रोज हिदुत्व का अपमान किया. पिछले ढाई साल में महाराष्ट्र में विकास नहीं हुआ. बालासाहेब ठाकरे के विरोधियों के साथ उद्धव ठाकरे ने सरकार बनाई. बाला साहेब कांग्रेस के विरोधी रहे, लेकिन इन्होंने उनके साथ सरकार बनाई.

उन्होंने कहा कि लोग भाजपा शिवसेना की सरकार चाहते थे, लेकिन उद्धव ने एनसीपी और कांग्रेस को प्राथमिकता दी. मैं आपसे हमेशा कहता था कि ये सरकार (महा विकास आघाडी) अपना कार्यकाल पूरा नही कर पाएगी. देवेंद्र फडणवीस ने नवाब मालिक को लेकर कहा कि बालासाहेब ठाकरे ने जिंदगी भर दाऊद का विरोध किया, लेकिन उद्धव ठाकरे ने दाऊद से संबंध रखने वाले व्यक्ति को मंत्री बनाया. जेल जाने के बाद भी उसे मंत्री पद से नहीं निकाला.

देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि एकनाथ शिंदे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री होंगे, शपथ ग्रहण समारोह शाम 7.30 बजे होगा. आज शपथ ग्रहण समारोह के बाद मंत्रिमंडल का विस्तार होगा और शिवसेना और भाजपा के नेता शपथ लेंगे. मैं सरकार से बाहर रहूंगा. यह सुनिश्चित करना मेरी जिम्मेदारी होगी कि सरकार ठीक से काम करे. यह लड़ाई सत्ता की नहीं हिंदुत्व की है.

Leave Your Comment
Most Viewed
Related News