ख़बर जहां, नज़र वहां

अमेठी के बाद अब सोनिया गांधी और मुलायम सिंह यादव की सीट पर भाजपा की नजर

बीजेपी ने इसके लिए हर बूथ-20 यूथ का नया नारा दिया गया है. यानी हर बूथ पर 20 ऐसे युवाओं को जोड़ना है, जिनमें लीडरशिप की संभावना है. उनका क्षेत्र में प्रभाव भी हो. बीजेपी के एक प्रभारी ने बताया कि पार्टी का फोकस उन सीटों पर है जहां पर 2019 में पार्टी को हार मिली थी.
अमेठी के बाद अब सोनिया गांधी और मुलायम सिंह यादव की सीट पर भाजपा की नजर

लखनऊः आजमगढ़ और रामपुर उपचुनाव में मिली जीत से उत्साहित बीजेपी अब 2019 के लोकसभा चुनाव में हारी हुई 14 सीटों पर फोकस करने जा रही है. संगठन महामंत्री सुनील बंसल और कैबिनेट मंत्री स्वतंत्र देव सिंह  ने मिशन 2024 में 80 सीटों को जीतने का लक्ष्य दिया है. उन्होंने स्पष्ट किया कि अब बीजेपी का अगला लक्ष्य 14 लोकसभा सीटों पर है. इसे आजमगढ़ और रामपुर  की रणनीति से जीतेंगे.

आपको बता दें, बीजेपी ने इसके लिए हर बूथ-20 यूथ का नया नारा दिया गया है. यानी हर बूथ पर 20 ऐसे युवाओं को जोड़ना है, जिनमें लीडरशिप की संभावना है. उनका क्षेत्र में प्रभाव भी हो. बीजेपी के एक प्रभारी ने बताया कि पार्टी का फोकस उन सीटों पर है जहां पर 2019 में पार्टी को हार मिली थी. उन्होंने बताया कि इनमें 12 सीटें हम लोग 2014 के चुनाव में जीत चुके हैं. मैनपुरी और रायबरेली पर विशेष नजर है. इन सभी सीटों पर ध्यान देने के लिये चार केन्द्रीय मंत्री लगाए गए हैं. जो कि इन लोकसभा का दौरा करेंगें. केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर, रेल मंत्री अश्वनी वैष्णव, जितेन्द्र सिंह, अनपूर्णा देवी इन सभी लोकसभा क्षेत्रों का दौरा करेंगे.

वहीं रायबरेली, लालगंज, संभल, मुरादाबाद, मैनपुरी, गाजीपुर, घोसी, श्रावस्ती, अमरोहा, बिजनौर, जौनपुर, नगीना, सहारनपुर की लोकसभा सीट अभी बीजेपी के पास नहीं है. उपचुनाव में लोगों ने बीजेपी को पहली पसंद माना, इसलिए रामपुर और आजमगढ़ की लोकसभा सीटें इस लिस्ट से बाहर हो गईं. आपके बता दें कि मुख्यमंत्री योगी ने उपचुनाव से पहले लोकसभा की 75 प्लस सीट का लक्ष्य दिया था, लेकिन परिणाम पक्ष में आने के बाद अब पूरी की पूरी 80 सीटों पर जीत का दावा किया गया है. पार्टी के पास इस समय 64 सीटें हैं. 

Leave Your Comment
Most Viewed
Related News